नक्षत्र परिचय – 2 (ग्रीष्म अयनांत के बहाने)

रामायण में वर्णित ‘ऐरावत की सूँड़’ (Scorpio) स्पष्ट दिखती है। इसी में अनुराधा और ज्येष्ठा हैं। बिच्छू का डंक ही मूल नक्षत्र है। चित्रा और मूल को मिलाने वाली रेखा पर तुला राशि में हैं विशाखा (Brachium)।