चित्र लेख : मल्लाह के बच्चे

बनारस में वैसे तो मल्लाहों की बस्ती वाला ‘निषाद राज घाट’ भी है लेकिन नये बने ‘रविदास घाट’ (असी घाट से आगे) से लेकर वरुणा और गङ्गा के संगम तट पर स्थित ‘आदिकेशव घाट’ तक फैले अस्सी घाटों तक निरंतर बहती हैं नावें और दिखते हैं निषाद जिन्हें हम मल्लाह, केवट, माझी आदि नामों से…

हिन्दी में अरबी प्रदूषण पर, बँगला इतिहास के बहाने

हिन्दी सिनेमा की भाषा में अरबी प्रदूषण हिन्दीभाषी भारत को जड़ से काटने के लिये किया गयाi हिन्दी का अभिनेता उर्दू के लिए मानद पीएचडी पाए तो चौकन्ना हो जाना चाहिये। बँगला इतिहास के बहाने वर्तमान बँगलादेश (पूर्वी बंगाल) के मैमेनसिंह जनपद की स्थापना 1 मई 1787 को तत्कालीन ब्रिटिश ईस्ट इण्डिया कम्पनी द्वारा हुई।…