जैव विविधता: अवधी चिरइयाँ

वैज्ञानिक नाम: Saxicoloides fulicata स्थानीय नाम: भुजइन, कलचुरी, गँड़ुलर, फुदकी अंग़्रेजी नाम: Indian Robin चित्र स्थान और दिनाङ्क: अयोध्या (उत्तरप्रदेश), 06/01/2017, चित्र मादा चिड़िया का है। छाया चित्रकार (Photographer): आजाद सिंह लक्षण, चरित्र और स्वभाव: नर काले रंग का, पंख पर सफेद धब्बा और उठी हुई पूँछ, पूँछ की निचले छोर पर जंग जैसा ललछौंह…

जोशुआ ‘परमेश्वर यादवों से प्रेम करता है’

‘फ्रण्टियर वेंचर्स’ ईसाइयत के प्रसार का लक्ष्य ले कर चलने वाला एक अमेरिकी संगठन है। इसकी अनेक आनुषंगिक इकाइयाँ भी हैं। कार्यसिद्धि के लिये बनाये गये इसके विभिन्न विभाग ministry कहलाते हैं जिनकी कुल संख्या 12 है। इस संगठन की योजनायें बहुत ही महत्त्वाकांक्षी और बृहद हैं। यह संस्था पहले U.S. Center for World Mission…

चलते चलते

दिल्ली के प्रगति मैदान में ‘पुस्तक मेले’ का समय है। कई लोग पुस्तकों से प्रेम करते हैं, ठीक वैसे ही जैसे किसी दूसरी सजावटी वस्तु से जैसे – गमला, पेपरवेट आदि। पुस्तकें खरीदते हैं और सजा कर प्रदर्श में रख देते हैं। पढ़ते कदापि नहीं। यही भर नहीं, अपने इस दोष का ऐसे वर्णन करते…

चित्र लेख : मल्लाह के बच्चे

बनारस में वैसे तो मल्लाहों की बस्ती वाला ‘निषाद राज घाट’ भी है लेकिन नये बने ‘रविदास घाट’ (असी घाट से आगे) से लेकर वरुणा और गङ्गा के संगम तट पर स्थित ‘आदिकेशव घाट’ तक फैले अस्सी घाटों तक निरंतर बहती हैं नावें और दिखते हैं निषाद जिन्हें हम मल्लाह, केवट, माझी आदि नामों से…

काल गणना में खिसकती मकर संक्रांति

हम जानते हैं कि पृथ्‍वी की मूल रूप से दो गतियाँ होती हैं, अपने अक्ष पर घूर्णन की और सूर्य की परिक्रमा की, परंतु हम पृथ्‍वी की दो और गतियों पर लगातार निर्भर हैं, उनमें से एक है – अक्ष पर घूर्णन करते समय साढ़े तेईस अंश के झुकाव के कारण ऊर्ध्व अक्ष की वृत्तीय…