Wildlife Photographer, Conservationist, Travelor and Nature Lover जंतुविज्ञान परास्नातक, लखनऊ विश्वविद्यालय व्यवसाय: औषधि विपणन अभिरुचि: फोटोग्राफी ब्लॉग: The Free Bird आजाद पंछी

Spotted Dove फाक्ता। चित्र सर्वाधिकार: आजाद सिंह, © Ajad Singh, सरयू आर्द्र भूमि, माझा, अयोध्या, फैजाबाद, उत्तर प्रदेश, May 05, 2018

Spotted Dove / Eastern Spotted Dove / फाक्ता / पंडुक

Spotted Dove चित्रपक्ष के प्रसूति काल में मादा के कण्ठ स्थान पर दूध जैसा पदार्थ निस्‍सृत होता है जिसे बच्चे चोंच से पीते हैं। यह जल भी चूस-चूस कर पीता है।

Rose-ringed Parakeet, Ring-necked Parakeet, तोता, राज शुक। चित्र सर्वाधिकार: आजाद सिंह, © Ajad Singh, सरयू आर्द्र भूमि, माझा, अयोध्या फैजाबाद, उत्तर प्रदेश, September 19, 2018

Rose-ringed Parakeet / तोता / राज शुक

Rose-ringed Parakeet तोता अकेला ऐसा पक्षी हैं जो अपने भोजन को पैरों से पकड़कर चोंच तक ले जाता हैं। इनकी कर्कश प्रजनन काल में तनिक मधुर हो जाती है। तोते नीड़ का निर्माण नहीं करते हैं। अपितु तने के कोटर आदि में निवास करते हैं।

Crested Serpent Eagle शिखी सर्प चील

महाभारत में जिन्हें नागाशी की संज्ञा दी गई है, वे ये पक्षी हो सकते हैं। सुवर्णचूडो नागाशी दारुणश्चण्डतुण्डकः । अनलश्चानिलश्चैव विशालाक्षोऽथ कुण्डली ॥

White Eyed Buzzard, Butastur Teesa, तीसा, श्वेतनेत्र गरुड, पुण्डरीकाक्ष सरट-सुपर्ण। चित्र सर्वाधिकार: आजाद सिंह, © Ajad Singh, सरयू आर्द्र भूमि, माझा, अयोध्या फैजाबाद, उत्तर प्रदेश, June 03, 2018

White-Eyed Buzzard, तीसा, पुण्डरीकाक्ष सरट-सुपर्ण

श्वेत या तनु पीताभ आँखों की पुतलियों के कारण ही इसे पुण्डरीकाक्ष कहा गया है। श्येन सम किसी भी पक्षी की आँखें ऐसी नहीं होतीं।

Accipter badius शिकरा (सञ्चाण, Shikra, संचान, चिपका, चीपक)

Accipter badius शिकरा : अपने से बड़े पक्षियों का भी आखेट करने में समर्थ होता है। आहार एवं वास के अनुसन्‍धान में अल्प दूरी तक स्थानीय प्रवास भी करता है।