फाल्गुन-पूर्णिमाङ्क-2073-वि.-[वर्ष-1-अङ्क-4]-रविवार

~~~~~~~~~~~~~~~~
~~~~~~~~~~~~~~~~
आप सबको बसंत पूर्णिमा और होलिकोत्सव की बधाई एवं मङ्गलकामनायें

होली सम्हती

चित्राङ्कन: अमित शर्मा

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

प्रीतिः मंजरीषु इव

प्रीतिः मंजरीषु इव त्रिलोचन नाथ तिवारी  वसंत आया है। वैसे ही आया है, जैसे प्रतिवर्ष आता है – प्रत्येक हृदय को सुमन सम प्रफुल्लित करता हुआ, आशाओं को पत्र इव पल्लवित करता हुआ! मन मधुप हुये जा रहे हैं तथा सुधियों की अमराइयों में कोकिलों की तान उठ रही है। ...
पूरा लेख पढ़ें

शून्य – 4

शून्य - 1, शून्य - 2 , शून्य - 3 से आगे ... भास्कराचार्य (भास्कर द्वितीय) ने बीजगणितम् और लीलावती में शून्य को नए सिरे से परिभाषित किया। शून्य से भाग देने पर शून्य ही बचता है को संशोधित कर उन्होंने कहा कि किसी भी अंक को शून्य से भाग ...
पूरा लेख पढ़ें

Holaka Krida(होलाका क्रीड़ा) : Annual Deva Yajna(देव यज्ञ) for Masses

ग्राफिक्स चित्र संदर्भ: http://newseastwest.com/wp-content/uploads/2017/01/lohri-celebrations.jpg http://img09.deviantart.net/183e/i/2010/087/3/8/holi_festival_2010_46_by_falln_stock.jpg  Holaka From the references of Sabara and Jaimini bhashya on Purvamimasa-sutra, it appears that the original word is होलाका. [1] होलाका is a festival of unmixed gaiety and frolics throughout India. Although, all parts of India don't celebrate it same way, but one element is ...
पूरा लेख पढ़ें

ऋतूनां कुसुमाकरः!

श्रीमद्भावद्गीतायां श्रीकृष्णस्य मुखारविन्देन निर्गता संदेशोस्ति ऋतूनां कुसुमाकरः, सः स्वयमेव कुसुमाकरः-वसन्तः-ऋतुराजश्च। भारतीय वाङ्ग्मये ऋतूनां वर्णने वसन्त ऋतोः वर्णनं महत्वप्रतिपादनन्च अपेक्षाकृतः अधिकः। वासंतिककालेस्मिन् सर्वत्र प्रकृतेः मनोहारि दर्शनं भवति मन प्रफुल्लित भवतीति। वने-उद्याने-फलारामे सर्वत्र मनोहारि विभिन्न वर्णानां सुन्दराणि पुष्पाणि-फलानि विकसन्ति, तेषां सौन्दर्येण नीरस जनानामपि चित्तं आह्लादयन्ति। क्वचित् पुष्पाणि तेषां सुगन्धेन क्वचित् तेषां मनोहारि ...
पूरा लेख पढ़ें

पातञ्जल योगसूत्र (Pātañjal Yoga Sūtra)

11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने प्रत्येक वर्ष 21 जून को विश्व योग दिवस के रूप में मान्यता दी। भारतीय संस्कृति द्वारा मानवता को प्रदत्त अनेक उपहारों की तरह योग ने भी आज विश्वव्यापी पहचान बनाई है। संसार का शायद ही कोई क्षेत्र, भाषा या लिपि इससे अनजान रहा हो। योग आजकल ...
पूरा लेख पढ़ें

अवधी चिरइयाँ : गौरैया (Passer domesticus)

वैज्ञानिक नाम: Passer domesticus हिन्दी नाम: गौरैया, चटक (संस्कृत) अन्य नाम: चकली (गुजराती ), छोटी चराई (बँगला), कुरुवी (केरल, तमिलनाडु ), सेंदांग (मणिपुर), घर सुरोई (असम) अंग़्रेजी नाम: House Sparrow चित्र स्थान और दिनाङ्क: अवधपुरी कॉलोनी, फैजाबाद, उत्तर प्रदेश, 09/03/2017 छाया चित्रकार (Photographer): आजाद सिंह Kingdom: Animalia Phylum: Chordata Class: Aves Order: Passeriformes Family: ...
पूरा लेख पढ़ें

पूर्ववर्ती:

पौष पूर्णिमाङ्क, 2073 वि., [वर्ष 1, अङ्क 0], गुरुवार

माघ अमावस्याङ्क, 2073 वि., [वर्ष 1, अङ्क 1], शुक्रवार

माघ पूर्णिमाङ्क, 2073 वि., [वर्ष 1, अङ्क 2], शुक्रवार

फाल्गुन अमावस्याङ्क, 2073 वि., [वर्ष 1 अङ्क 3], रविवार

<a

इस लेख को साझा करने के लिए संक्षिप्त URL: