Ego Self-centeredness Selflessness अहम, आत्मविमोहता एवं नि:स्वार्थता : सनातन बोध – 38

मनोवैज्ञानिक इसे मानसिक व्याधियों से जोड़ते हैं, प्रमुख हैं – व्यग्रता (anxiety) एवं अवसाद (depression), सबका केंद्र –आत्म आसक्ति जिसकी जड़ – अहम (ego) !

जापानी उक्तियाँ (दूसरी कड़ी) : Tiny Lamps लघु दीप – 19

एशियाई सभ्यताओं में पारस्परिक सम्पर्क, विशेषकर बौद्ध मत के कारण, अनेक समानतायें पाई जाती हैं । देखना है कि मघा के पाठक उनका कितना अभिज्ञान कर पाते हैं!

Sabarimala सबरीमला : अब्राहमी मतान्‍तरण के मार्ग का सबसे बड़ा रोड़ा

1 नवम्बर को केरल को स्वतंत्र राज्य हुये 62 वर्ष हो जायेगें। 1961 की तुलना में यहाँ भारतीय मूल के धर्मावलम्बियों की संख्या 2011 तक सात प्रतिशत घट चुकी थी।

जापानी उक्तियाँ, यज़िदी नादिया मुराद को नोबेल पुरस्कार : Tiny Lamps लघु दीप – 18

अस्तित्त्व को जूझते एक अज्ञात गाँव की साधारण सी लड़की इस प्रकार एक नृजाति के अस्तित्त्व के सङ्कट को वैश्विक स्तर पर रेखाङ्कित कर देगी! इस लघु दीप को नमन।

अनासक्ति व प्रेम सम्बन्ध Detachment and Relationship : सनातन बोध – 36

अनुकम्पा और मोह से अनासक्त हो वस्तुनिष्ठ होने की बात है। भ्रान्ति से परे सम्बन्‍धों और संसार को समझने की बात है, सुखमय प्रेम और दाम्पत्य के लिए ।